Monday , 10 December 2018
भाजपा के टिकट वितरण के बाद डूंगरपुर विधानसभा की राजनीति में आया भूचाल

भाजपा के टिकट वितरण के बाद डूंगरपुर विधानसभा की राजनीति में आया भूचाल

डूंगरपुर, 13 नवम्बर (उदयपुर किरण). आजादी के बाद से पहली बार जिले की डूंगरपुर विधानसभा की सीट पर भारतीय जनता पार्टी ने जीत हासिल करने में सफलता मिली थी. डूंगरपुर विधानसभा के निवर्तमान विधायक देवेंद्र कटारा ने यहां जीत दर्ज कर इतिहास बनाया था. वर्तमान समय में भाजपा के प्रदेश नेतृत्व द्वारा जारी 131 उम्मीदवारों की पहली सूची में देवेंद्र कटारा का नाम शामिल नहीं किया गया. भाजपा से टिकट नहीं मिलने पर मंगलवार को देवेंद्र कटारा के निवास स्थान पर बैठक हुई. बैठक के बाद वह रैली करते हुए निर्दलीय प्रत्याशी का परचा लेने के लिए कलेक्ट्रेट पहुंचे.

उन्होंने उपखंड कार्यालय से नामांकन परचा लिया. वहीं भाजपा सूची से नाम कटने पर कटारा के समर्थकों ने भाजपा पदाधिकारियों पर जातिवाद के आधार पर टिकट काटने का आरोप लगाया है. इसी मुद्दे को लेकर मंगलवार को कटारा के निवास पर उनके समर्थक, आदिवासी समाज के लाेग व मुस्मिल समाज के लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा. आक्रोशित समर्थकों, कार्यकर्ताओं व सामाजिक संगठनों से जुड़े लोगों ने भाजपा का पुरजोर तरीके से विरोध किया. कार्यकर्ताओं ने कहा कि देवेंद्र कटारा ने गरीब, दलित, आदिवासियों की आवाज को विधानसभा में उठाया है. इसलिए भाजपा ने गरीबों की आवाज को दबाने के लिएदेवेंद्र कटारा का टिकट काट दिया.

इस बात को लेकर आदिवासी समाज के लोगों ने देवेंद्र का समर्थन किया. आदिवासी समाज के लोगों ने देवेंद्र कटारा से कहा कि आपने गरीबों की आवाज को उठाया है, पूरा समाज आपके साथ है. आप निर्दलीय प्रत्याशी बनकर मैदान में उतरें, हम आपके साथ है. आदिवासी समाज के लोगों ने कहा कि जातिवाद के नाम पर भाजपा ने जो टिकट काटा है, इसके विरोध में एकजुट होकर हम कटारा को दोबारा विधानसभा में भेजना चाहते हैं. लोगों का कहना है कि हम भाजपा को जातिवाद के नाम का सबक सिखाएंगे.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*