Tuesday , 18 June 2019

ट्रांसपोर्ट नगर से एयरपोर्ट तक ट्रायल के लिए जल्द चलेंगी दो मेट्रो ट्रेन

लखनऊ,14 जनवरी (उदयपुर किरण). लखनऊ मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (एलएमआरसी) ट्रांसपोर्ट नगर से चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट तक जल्द ही ट्रायल के लिए दो मेट्रो ट्रेन चलाएगा. चारबाग से मुंशी पुलिया तक दोनों पटरियों पर करीब साढ़े 12 किलोमीटर लंबे रूट पर अभी तीन मेट्रो ट्रेनें दौड़ाई जा रही है.

एलएमआरसी के प्रवक्ता ने सोमवार को बताया कि चारबाग से मुंशी पुलिया तक दोनों पटरियों पर करीब साढ़े 12 किलोमीटर लंबे रूट पर अभी तीन मेट्रो ट्रेनें ट्रायल के तौर पर दौड़ाई जा रही है. जबकि ट्रांसपोर्ट नगर से चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट तक एक मेट्रो ट्रेन चलाई जा रही है. एक सप्ताह बाद इस रूट पर भी दो ट्रेनें दौड़ाई जाएंगी.
लखनऊ मेट्रो के उत्तर -दक्षिण कॉरिडोर की सभी स्टेशनों पर मेट्रो का ट्रायल शुरू हो गया है. ट्रायल शुरू होने के साथ सभी 21 स्टेशन आपस में जुड़ गए हैं. हालांकि अभी तक इसमें से केवल आठ स्टेशनों पर ही पब्लिक के लिए मेट्रो ट्रेन चल रही है. बाकी स्टेशनों पर मेट्रो अभी ट्रायल के तौर पर चल रही है. चारबाग से मुंशी पुलिया के बीच मेट्रो के सिग्नलिंग व ट्रैक की टेस्टिंग चल रही है. इसके लिए इस रूट पर तीन ट्रेनें चलाई जा रही हैं. साथ ही मेट्रो स्टेशनों पर लगी मशीनों का भी ट्रायल चल रहा है. जहां भी खामियां आ रही हैं उसे दुरुस्त कराया जा रहा है.
एलएमआरसी के साथ ट्रेन की सप्लाई करने वाली कम्पनी अल्स्टाम के इंजीनियर भी परीक्षण में लगे हैं. अभी ट्रायल चार से पांच हफ्ते तक चलेगा. ट्रायल के दौरान सभी आंकडे़ एकत्र किए जा रहे हैं. टेस्टिंग के रिजल्ट सही होन के बाद एलएमआरसी इन आंकड़ों को कमिश्नर मेट्रो रेल संरक्षा (सीआरएस) को भेजेगा. फिर उनसे ट्रायल के लिए समय मांगेगा. समय मिलने पर कमिश्नर मेट्रो रेल संरक्षा अपनी निगरानी में करीब एक सप्ताह का ट्रायल कराएंगे. इसके बाद वह कॅमर्शियल रन की मंजूरी देंगे.
ट्रांसपोर्ट नगर से चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट के बीच भी ट्रायल चल रहा है. यहां दो स्टेशन बने हैं. एक अमौसी व दूसरा चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट. इन दोनों स्टेशनों के बीच अभी एक ट्रेन चलाई जा रही है.
ट्रायल के लिए मेट्रो को इन स्टेशनों के बीच 10 से 15 किलोमीटर की रफ्तार से चलाया जा रहा है. करीब एक सप्ताह तक इसी स्पीड में ट्रेन चलेंगी. इसके बाद धीरे-धीरे स्पीड बढ़ाई जाएगी.
प्रवक्ता ने बताया कि 15 से 20 किलोमीटर रफ्तार से सही आंकड़े मिलने के बाद मेट्रो ट्रेन को धीरे -धीरे 30 से 40 किलोमीटर की रफ्तार से चलाया जाएगा. आखिरी दो सप्ताह में इसे 60 से 80 के रफ्तार में चलाकर ट्रायल किया जाएगा.
दरअसल, एलएमआरसी फरवरी में उत्तर -दक्षिण कॉरिडोर के 21 स्टेशनों के बीच मेट्रो ट्रेन चलाने की के लिए दिन के साथ रात में भी ट्रायल कर रहा है. इसके साथ ही विभिन्न प्रकार के तकनीकी ट्रायल भी बहुत तेजी से चल रहे हैं.

http://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*