Wednesday , 23 May 2018
Breaking News
36 घंटे बाद भी शावक को नहीं मिली मां, आज दोबारा जंगल में छोड़ा जाएगा

36 घंटे बाद भी शावक को नहीं मिली मां, आज दोबारा जंगल में छोड़ा जाएगा

बांसवाड़ा.  घाटोल के गांगजी का खेड़ा गांव में पिल्लों के साथ चले आए शावक की मां का 36 घंटे बाद भी कोई पता नहीं चल पाया है. वन विभाग की टीम जंगल में गश्त कर रही है लेकिन पैंथर का कोई पता नहीं चल पाया. शावक को मां के पास पहुंचाने के लिए वन विभाग ने रविवार रात को भी पानी से भरे एक पोखर के पास शावक को कुछ देर अकेला छोड़ा था लेकिन पैंथर नहीं आया. ऐसे में सोमवार देररात को दोबारा शावक को जंगल में छोड़ा जाएगा.

इधर, शावक की परवरिश काे लेकर भी वन विभाग की टीम बेहद गंभीर है. शावक की सेहत जांचने के लिए सोमवार को पशु चिकित्सा विभाग की 3 सदस्यीय टीम से शावक की जांच करवाई गई. डॉक्टरों ने शावक को पूरी तरह स्वास्थ्य बताया है. डॉक्टरों ने गर्मी को देखते हुए शावक को दूध, पानी और छाछ पिलाने के सुझाव दिए है. फिलहाल शावक को एकांत कमरे में रखा गया है. शनिवार सुबह शावक गांगजी खेड़ा में पिल्लों के साथ आबादी बस्ती में चला आया था.

अमूमन शावक के बिछड़ने पर पैंथर दोबारा वहा आती है. कई बार तो शावक के बिछड़ने पर मादा पैंथर इतना गुस्सा जाती है कि हमले तक करती है. रेंजर गोविंदसिंह रजावत ने बताया कि गश्त कर मादा पैंथर के पगमार्क तलाशने की कोशिश की लेकिन कही कोई पता नहीं चल पाया है. सोमवार रात को दोबारा शावक को जंगल में छोड़ेंगे. हालांकि 2 दिन बाद भी मादा पैंथर के नहीं लौटने और कोई पता नहीं चलने से पैंथर के मरने की आशंका भी बढ़ती जा रही है. घाटोल वनक्षेत्र में 10 से ज्यादा पैंथर का बसेरा है.

The post 36 घंटे बाद भी शावक को नहीं मिली मां, आज दोबारा जंगल में छोड़ा जाएगा appeared first on .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*