Friday , 21 February 2020
6 घंटे इंतजार के बाद नामांकन भर सके केजरीवाल

6 घंटे इंतजार के बाद नामांकन भर सके केजरीवाल

नई दिल्ली.दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए मुख्यमंत्री व आप संयोजक अरविंद केजरीवाल को नामांकन दाखिल करने के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ी. वह दोपहर करीब 12 बजे नामांकन के लिए परिवार के साथ जामनगर हाउस पहुंचे. यहां अन्य उम्मीदवारों की भी भारी भीड़ होने के कारण अफरातफरी मची थी. इस दौरान निर्दलीय उम्मीदवारों ने जमकर हंगामा भी किया. इनका कहना था कि केजरीवाल को सीधे एंट्री क्यों दे दी गई जबकि बाकी सभी अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे. हालांकि उन्हें यहां पर टोकन नंबर 45 मिला और वह नामांकन दाखिल करने का इंतजार करते रहे. करीब 6 घंटे बाद उनका नंबर आया और उन्होंने नामांकन दाखिल किया. मनीष सिसोदिया ने इसे भाजपा की साजिश करार दिया.आप नेता सौरभ भारद्वाज ने भी इसके पीछे भाजपा का हाथ बताया. उन्होंने बताया कि केजरीवाल को टोकन नंबर 45 दिया गया.
केजरीवाल ने कहा कि आज से पांच साल की यात्रा शुरू हो रही है. सभी दल मुझे हराने में लगे हैं. सभी पार्टियां मेरे खिलाफ एक हो गई हैं. वहीं नामांकन भरने से पहले आज सुबह उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से पोस्ट किया था कि एक तरफ भाजपा, जदयू, लोजपा, जजपा, कांग्रेस और राजद. दूसरी तरफ स्कूल, अस्पताल, पानी, बिजली, फ्री महिला यात्रा और दिल्ली की जनता. मेरा मकसद है भ्रष्टाचार को हराना और दिल्ली को आगे ले जाना. वहीं, उन सब का मकसद है मुझे हराना. आप प्रमुख ने कहा, वे (विपक्षी दल) कह रहे हैं कि केजरीवाल को हराओ और मैं कह रहा हूं कि स्कूलों को बेहतर बनाओ, अस्पतालों को बेहतर बनाओ. उनका एकमात्र उद्देश्य केजरीवाल को हराने का है. वहीं, नामांकन से पहले मुख्यमंत्री केजरीवाल की मां ने उन्हें जीत का आशीर्वाद देते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी दिल्ली में सभी 70 सीटों पर जीत हासिल करेगी. रोड शो में उमड़ी भीड़ के कारण देरी हो गई थी और केजरीवाल पर्चा दाखिल नहीं कर पाए थे. दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन का आज आखिरी दिन था.