Thursday , 18 April 2019
कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर लोकसभा चुनाव लडऩे से किया इंकार

कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर लोकसभा चुनाव लडऩे से किया इंकार

भोपाल, 17 अप्रैल (उदयपुर किरण). भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल के पार्टी मामलों के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने लोकसभा चुनाव लडने से इंकार कर दिया है. बुधवार को ट्वीट कर कैलाश विजयवर्गीय ने चुनाव नहीं लडऩे का एलान करते हुए कहा कि हम सभी की प्राथमिकता समर्थ समृद्ध भारत के लिये नरेन्द्र मोदी को पुन: प्रधानमंत्री बनाना है. इससे पहले सुमित्रा महाजन भी इंदौर से चुनाव लडऩे से इनकार कर चुकी हैं. जिसके बाद कैलाश विजयवर्गीय को वहां से बड़ा चेहरा माना जा रहा था, लेकिन अब उन्होंने ने भी चुनाव लडऩे से इंकार कर दिया है.

कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर लिखा ‘इंदौर की जनता,कार्यकर्ता व देशभर के शुभचिंतकों की इच्छा है कि मै लोकसभा चुनाव लड़ूं, पर हम सभी की प्राथमिकता समर्थ समृद्ध भारत के लिये श्री @narendramodi को पुन: प्रधानमंत्री बनाना है पश्चिमबंगाल की जनता मोदीजी के साथ खड़ी है,मेरा बंगाल रहना कर्तव्य है,अत: मैंने चुनाव न लडऩे का निर्णय लिया है’. कैलाश विजयवर्गीय ने कार्यकताओं से अपील करते हुए कहा कि ‘आशा है कि आप भी देशहित एवं पार्टी हित के मेरे निर्णय से सहमत होंगे व पार्टी जिन्हें भी प्रत्याशी बनायेगी,उनकी जीत के लिये, जी जान से जुट जायेंगे. मेरी न सिर्फ इंदौर बल्कि पूरे देश के मतदाताओं से विनती है कि एनडीए जैसी मजबूत सरकार एवं मोदीजी जैसे मजबूत PM के लिए मतदान करें. यही विनय’.

आगे विजयवर्गीय ने कहा कि ‘BJP के प्रत्येक कार्यकर्ता का सिद्धांत है Nation First-Party Second-Self Last जहाँ सवाल देशहित और पार्टी हित का हो वहाँ स्वयं का कोई महत्व नहीं रह जाता. हमारे सामने पश्चिम बंगाल में पार्टी को अधिकाधिक सीटे जिताने का लक्ष्य है,यह लक्ष्य जितना बड़ा है उतनी ही बड़ी चुनौती भी है’.

कैलाश विजयवर्गीय द्वारा लोकसभा चुनाव नहीं लडऩे का एलान करने पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने पलटवार किया है. नरेन्द्र सलूजा ने ट्वीट कर कहा है ‘ताई की तरह कैलाश विजयवर्गीय ने भी टिकट नहीं मिलता देख लिखा कि मैं चुनाव नहीं लडऩा चाहता हूँ. यह सब पहले दिन क्यों नहीं लिखा एक दिन पूर्व तक तो कह रहे थे कि बंगाल की चुनौती बड़ी है लेकिन पार्टी कहेगी तो लड़ूँगा. ताई के पत्र के बाद अब ये tweet सब कहना चाहते है कि मैंने ही मना कर दिया’.


https://udaipurkiran.in/hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*