Tuesday , 21 May 2019
इंडियन ऑयल के नेट प्रॉफिट में जबरदस्‍त उछाल, 17 फीसदी बढ़कर ₹6099 करोड़ रहा मुनाफा

इंडियन ऑयल के नेट प्रॉफिट में जबरदस्‍त उछाल, 17 फीसदी बढ़कर ₹6099 करोड़ रहा मुनाफा

नई दिल्‍ली. सार्वजनिक क्षेत्र की सबसे बड़ी तेल कंपनी इंडियन आयल कारपोरेशन (IOC) का शुद्ध लाभ फाइनेंशियल ईयर में 2018-19 की चौथी तिमाही में 17 फीसदी बढ़कर 6,099.27 करोड़ रुपए रहा. आईओसी ने शुक्रवार को शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि इससे पूर्व फाइनेंशियल ईयर 2017-18 की इसी तिमाही में कंपनी का शुद्ध लाभ 5,218.10 करोड़ रुपए था.

आईओसी के कारोबार में भी बढ़ोतरी

आईओसी की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि कंपनी का कारोबार पिछले फाइनेंशियल ईयर की जनवरी-मार्च तिमाही में बढ़कर 1.44 लाख करोड़ रुपए रहा, जो 1 साल पहले इसी तिमाही में 1.37 लाख करोड़ रुपए था. इस अवधि में एवरेज ग्रॉस मार्जिन गिरकर 5.41 डॉलर प्रति बीबीएल पर आ गया. कंपनी का EBITDA 10,876 करोड़ रुपए रहा.

एक रुपए प्रति शेयर देगी डिविडेंड

बता दें कि कंपनी के बोर्ड निदेशकों ने एक रुपए प्रति शेयर का डिविडेंड घोषित किया है. यह 8.25 रुपए प्रति शेयर के अंतरिम डिविडेंड के अतिरिक्‍त होगा. कंपनी के शेयरों में दोपहर के वक्‍त 1 फीसदी की तेजी देखी गई.

देश के 90 फीसदी बाजार पर कब्‍जा

दरअसल देश में पेट्रोलियम उत्पादों के विरतण में 90 फीसदी बाजार हिस्सेदारी सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के हाथ में है. इसमें इंडियन ऑयल कारपोरेशन (IOC), हिंदुस्‍तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड (HPCL) और भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड (BPCL) का ही फिलहाल पेट्रोलियम बाजार पर कब्जा है. बता दें कि देश में कुल 64,624 पेट्रोल पंपों में से 57,944 पेट्रोलपंपों पर इन्हीं कंपनियों का नियंत्रण है.

21 करोड़ 16 लाख टन पेट्रो उत्‍पाद की खपत

देश में फाइनेंशियल ईयर 2018-19 में कुल 21 करोड़ 16 लाख टन पेट्रोलियम उत्पादों की खपत हुई, जो कि इससे पिछले साल 20 करोड़ 62 लाख टन रही. वहीं इससे पहले फाइनेंशियल ईयर  2015-16 में ये 18 करोड़ 47 लाख टन रही थी.

हालांकि कच्चे तेल का उत्पादन खपत के मुकाबले काफी कम है.  लेकिन कच्चे तेल को विभिन्न उत्पादों में बदलने के मामले में देश में अधिशेष की स्थिति है. वहीं, बीते फाइनेंशियल ईयर में पेट्रोलियम उत्पादों का प्रोडक्‍शन 26.24 करोड़ टन रहा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*