Thursday , 20 June 2019

बोइंग ने कहा- सॉफ्टवेयर में खामी कारण 737 मैक्स विमान हुए क्रैश

लॉस एंजलिस.बड़े विमान हादसों के बाद आखिर बोइंग ने मान लिया कि 737 मैक्स में मौजूद सॉफ्टवेयर की तकनीकी खामी थी जिसको दूर कर लिया है. वह अब इसकी प्रमाणिकता के लिए अंतिम उड़ान की तैयारी कर रहा है. यह खामी तब दूर की गई है जब दो विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गए और इसमें 346 लोग मारे गए. इन दुर्घटनाओं के बाद कई देशों ने इन विमानों को परिचालन से बाहर कर दिया था. कंपनी ने कहा, बोइंग ने 737 मैक्स सिम्युलेटर सॉफ्टवेयर को ठीक कर दिया है और इस बारे में डिवाइस ऑपरेटर्स को अतिरिक्त जानकारी दे दी गई है. ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सिम्युलेटर सभी तरह की विमान परिस्थिति में ठीक तरह से कार्य कर सके. हालांकि कंपनी ने यह नहीं बताया कि उसे परेशानी के बारे में पहली बार कब पता चला था और क्या उसने रेग्युलेटर्स को इसके बारे में बताया था.
बोइंग ने पहली बार यह माना कि 737 मैक्स के सॉफ्टवेयर में खामी थी. इसके एमसीएएस एंटी-स्टॉल सॉफ्टवेयर को एथियोपियन एयरलाइन हादसे के लिए जिम्मेदार माना जाता है. बोइंग के कार्यकारी अधिकारी डेनिस मुईलेनबर्ग ने कहा, सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है. हमने सॉफ्टवेयर अपडेट को लेकर सारी इंजिनियरिंग परीक्षण उड़ानें पूरी कर ली हैं. अब इसकी प्रमाणिकता के लिए अंतिम उड़ान की तैयारी कर रहे हैं.
कांग्रेस बोइंग 737 मैक्स की जांच कर रही है और वह यह भी पता करेगी कि उसे नियामक सुरक्षा जांच कैसे मिली. हाउस विमानन पैनल ने एफएए के कार्यवाहक प्रशासक डेनियल एलवेल को तलब किया. बोइंग के अनुसार फ्लाइट सिम्युलेटर सॉफ्टवेयर उड़ान की कुछ परिस्थितियों को फिर से दोहरा रहा था. जैसा कि इथियोपियन एयरलाइंस की दुर्घटनाग्रस्त उड़ान के दौरान हुआ. बोइंग को विमानों का परिचालन दोबारा शुरू करने से पहले प्रस्तावित सुधार पर अमेरिकी और अंतरराष्ट्रीय नियामकों की मंजूरी की आवश्यकता होगी. उड़ान प्रबंधन प्रणाली की इसी खामी को विमान हादसों का कारण माना जा रहा है. कंपनी का कहना है कि उसने 737 मैक्स में मैनोवरिंग कैरेक्टरस्टिक ऑगमेन्टेशन सिस्टम (एमसीएएस) से संबंधित खामी दूर करने के बाद 360 घंटों से ज्यादा उड़ान भरकर परीक्षण किया है. जिसके लिए 207 उड़ाने संचालित की गईं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*