Thursday , 20 June 2019

फूलों एवं शहद उत्पादन में अपार सम्भावनाएं: रामी रेड्डी

लखनऊ. इंस्टीट्यूट आॅफ कोआॅपरेटिव एण्ड कार्पोरेट मैनेजमेंट, रिसर्च एण्ड ट्रेनिंग (आईसीसीएमआरटी), लखनऊ के सभागाार में एमवीएस रामी रेड्डी, आईएएस, प्रमुख सचिव सहकारिता, उप्र, मुख्य अतिथि द्वारा राष्ट्रीय कृषि विस्तार प्रबंध संस्थान (मैनेज), हैदराबाद के सहयोग से संचालित ऐग्रीक्लीनिक्स एवं ऐग्रीबिजनेस सेंटर्स (एसीएबीसी) योजना के अन्तर्गत संस्थान द्वारा आयोजित किये गए 03 प्रशिक्षण कार्यक्रम के प्रतिभागियों को प्रमाणपत्र प्रदान किये गये.
मुख्य अतिथि ने प्रशिक्षण कार्यक्रम की प्रशंसा की तथा प्रशिक्षणार्थियों को फूलों के व्यवसाय (फ्लोरीकल्चर) एवं शहद के व्यवसाय (एपीकल्चर) को भी चुनने की सलाह दी और जोर देकर कहा कि इस क्षेत्र में उद्यमिता की अपार सम्भावनाएं हैं. उन्होंने यह कहते हुए प्रसन्नता व्यक्त की कि यह संस्थान प्रबन्धकीय शिक्षा ग्रहण कर रहे छात्र-छात्राओं एवं प्रशिक्षुओं के भविष्य को संवारने में पूर्ण समर्पण के साथ निरन्तर प्रयासरत है.
कार्यक्रम के आरम्भ में संस्थान के निदेशक राजीव यादव ने मुख्य अतिथि का स्वागत करते हुए कहा कि संस्थान इस प्रकार के कार्यक्रमों के अतिरिक्त राष्ट्रीय कृषि विपणन संस्थान (नियाम), जयपुर के प्रशिक्षण कार्यक्रम, प्रबन्ध शिक्षा के विभिन्न पाठ्यक्रम यथा एमबीए, बीबीए, बीकाॅम (आनर्स) जैसे प्रतिष्ठित एवं रोजगारपरक कार्यक्रमों का सफलतापूर्वक संचालन करता है. यहाॅ के 100 प्रतिशत छात्र-छात्राएं देश-विदेश की प्रतिष्ठित संस्थाओं में कार्य कर संस्थान का नाम रोशन कर रहे हैं.इस कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डाॅ. के. अन्बुमणि ने ए.सी.ए.बी.सी. प्रशिक्षण कार्यक्रम के प्रमुख पक्षों पर प्रकाश डाला.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*