Tuesday , 18 June 2019

जौनपुर: उपजिलाधिकारी ने छापेमारी की, दवा की दुकान में इलाज होता देख रह गये दंग

खतरे जान बने नीम-हकीमों के खिलाफ शुक्रवार को उपजिलाधिकारी ने क्षेत्र में जगह-जगह छापेमारी की. इस दौरान सूरतपुर गांव स्थित मेडिकल स्टोर से उपचार के साथ रसोई गैस की आपूर्ति कराता पाया. नीम-हकीम मरीज को ड्रिप चढ़ता छोड़ भाग खड़ा हुआ. मौके से आठ सिलेंडर बरामद किए गए. एसडीएम ने दुकान सीज करके आरोपी के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत करने का निर्देश दिया. उपजिलाधिकारी राकेश कुमार सूरतपुर स्थित एमडी मेडिकल स्टोर्स पर पहुंचे, यहां एक मरीज को ड्रीप चढ़ाई जा रही थी और बगल में आठ घरेलू रसोई गैस सिलेंडर रखे थे. यह देख उनका माथा ठनका. जब उन्होंने चिकित्सक के बारे में पूछा तो वहां कोई चिकित्सक ही नहीं मिला. पता लगा कि चिकित्सक ड्रीप लगाकर गायब हो गया. क्लीनिक के एक दीवार पर गैस एजेंसी का बोर्ड लगा हुआ था. उन्होंने कहा कि यह तो मरीजों की जान के साथ खिलवाड़ हो रहा है. इसके बाद तुरंत चिकित्साधीक्षक से बात किया कि आकर क्लीनिक को सील करके मुकदमा दर्ज कराएं. इसके बाद उपजिलाधिकारी ने मुर्की स्थित बंगाली क्लीनिक के नाम से चला रहे सुबीर मलिक के यहां छापा मारा. जांच में चिकित्सक से कागजात मांगे जाने पर उसने जो डिग्री दिया वह एकबारगी देखने से ही फर्जी दिखी. उपजिलाधिकारी ने डिग्री जब्त कर जांच हेतु भेज दिया. उपजिलाधिकारी ने बताया कि एक चिकित्सक के कागजात जांच हेतु लिए गए है. दूसरे क्लीनिक को सील करने का निर्देश दिया गया है. उन्होंने कहा कि ऐसे भी चिकित्सकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी जो अपने नाम की डिग्री से अप्रशिक्षित लोगों से नर्सिगहोम व क्लीनिक चलवा रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*