Tuesday , 18 June 2019

भाजपा ने भ्रमजाल फैलाकर अपनी उपलब्धियों को खूब बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया- अखिलेश यादव

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि मानना पडेगा कि भाजपा लोगों को बहकाने में अपना सानी नहीं रखती है. झूठ और छलकपट की नींव पर आधारित उसकी राजनीति के चलते देश की साख भी दांव पर लगी है. विकास के बड़े-बड़े दावे करने वाली भाजपा की केंद्र सरकार की कलई अब खुलने लगी है. नए तथ्य जो प्रकाश में आ रहे हैं जताते हैं कि भाजपा ने भ्रमजाल फैलाकर अपनी उपलब्धियों को खूब बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया, जिनकी पोल खुल रही है. नोटबंदी और जीएसटी से देश की अर्थव्यवस्था की मजबूती के दावे भाजपा सरकार ने किए थे पर अब भारतीय अर्थव्यवस्था के मंदी के दौर में होने की बात सामने आ रही है. सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की ग्रोथ रेट वर्ष 2018-19 की दूसरी छमाही में 6.5 फीसदी पर आ गई है. जो औसत ग्रोथ सात फीसदी से काफी कम है. इसी तरह मुख्य मंहगाई दर कोर इन्फ्लेशन 4.5 फीसदी पर आ पहंुच गई है. चुनाव में जीत के बाद से ही डीजल-पेट्रोल के दामों में बढ़त होने लगी है. इसकी वजह से माल ढुलाई का किराया बढ़ गया है. खुदरा कीमतें भी इससे प्रभावित होती हैं. भाजपा सरकार ने सन्् 2014 में भी वादा किया था कि उसके सत्ता में आने पर मंहगाई पर रोक लगेगी लेकिन मंहगाई में वृृद्वि होती गई है. भाजपा राज में मंहगाई अनियंत्रित रहती है. आज आम उपभोक्ता भी परेशानी में जी रहा है. घरेलू अर्थव्यवस्था गहरे दबाव में घिरती जा रही है. लोगों की क्रय शक्ति पर इस सबका असर पड़ा है. भाजपा की कुनीतियों के चलते जनता संकट में है. भाजपा ने लोकसभा चुनावो में विज्ञापनों तथा चुनाव प्रक्रिया में जितना बेतहाशा धन खर्च किया है, मंहगाई उसका ही दुष्परिणाम है. विज्ञापन पर ही भाजपा ने हजारो करोड़ रूपए खर्च किए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*