Thursday , 20 June 2019

IMA ज्वैलर्स के सातों निदेशकों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

बेंगलुरु.इस्लामिक बैंक और हलाल निवेशक कंपनी आई मॉनेटरी एडवाइडरी ज्वैलर्स (आईएमए) के सातों निदेशकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. उन्होंने पुलिस को बताया है कि वे फर्म के वित्तीय संकट से अनभिज्ञ थे. निदेशकों के मुताबिक कुछ दिनों पहले ही मालिक मोहम्मद मंसूर खान ने एक मीटिंग में कई जगहों पर निवेश की चर्चा की थी. साथ ही उन्हें रमजान की लंबी छुट्टी लेने को कहा था. इसके बाद सीधे उन्हें खान के फरार होने की खबर मिली.
फर्म निदेशकों को पुलिस ने अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार किया था. साथ ही पुलिस ने जानकारी दी है कि उसने एक निदेशक के घर के नजदीक सफेद रंग की एसयूवी बरामद की है, जो खान की बताई जा रही है. इस पर पुड्डुचेरी का नंबर है और यह कुछ समय से यहां खड़ी हुई थी. मामला उजागर होने के बाद तीसरे दिन भी बड़ी तादाद में लोग शिवाजीनगर स्थित फर्म के दफ्तर पहुंचे. उन्होंने मालिक और निदेशकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की. अब तक 26 हजार लोगों ने फर्म के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. निवेशकों के मुताबिक उन्हें कुछ मस्जिदों के उलेमा और मौलवियों ने आईएमए में पैसा लगाने को कहा था. उनका कहना है कि मौलवियों ने उन्हें पैसा सुरक्षित रहने का भरोसा दिया था. साथी ही बताया कि फर्म इस्लामिक दिशानिर्देशों के हिसाब से काम करती है.
इस बीच मंसूर खान के फरार होने और आत्महत्या की धमकी देने वाला ऑडियो क्लिप सामने आने के बाद निवेशक बेहाल हैं. कर्नाटक सरकार ने जांच के लिए 11 सदस्यीय एसआईटी के गठन का एलान किया था. इस ऑडियो में मंसूर ने कहा है कि वह आत्महत्या कर रहा है क्योंकि नेताओं और अफसरों को रिश्वत देते-देत थक गया है. उसने कांग्रेस विधायक रोशन बेग पर 400 करोड़ रुपये लेकर वापस न लौटाने का आरोप भी लगाया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*