Sunday , 21 July 2019

बलिदान दिवस पर काशी ने अपनी लाडली वीरांगना मनु को याद किया

वाराणसी, 17 जून (उदयपुर किरण). 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में ब्रिटिश शासन के खिलाफ निर्णायक जंग में अपने प्राणों की आहुति देने वाली वीरांगना काशी की बेटी रानी लक्ष्मी बाई उर्फ मनु को उनके बलिदान दिवस पर याद किया गया. वीरांगना के बलिदान दिवस पर सोमवार की शाम भदैनी स्थित उनके स्मारक पर  दीपदान कर  श्रद्धांजलि दी गई.
जागृति फाउंडेशन सहित अन्य संस्थाओं के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में वीरांगना के शौर्य को बताया गया. रामेश्वर मठ के प्रबंधक वरुणेश चंद्र दीक्षित एवं महारानी लक्ष्मी बाई जन्म स्थान स्मारक समिति के संस्थापक सदस्य प्रभु नाथ त्रिपाठी एवं साहित्यकार डॉ. जयप्रकाश मिश्र ने कहा कि  हमें गर्व है कि महारानी लक्ष्मी बाई हमारे काशी की बेटी थी और उन्होंने देश के स्वतंत्रता संग्राम में अपनी जान की बाजी लगाकर देश को आजाद कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.
अन्य वक्ताओं ने मांग किया कि परिसर को और बड़ा करके इसमें महारानी से जुड़े यादगार चीजों को प्रदर्शनी के तहत रखा जाए. साहित्यकार डॉ. जयप्रकाश मिश्र ने कहा कि वीरांगना लक्ष्मीबाई ने 1857की लड़ाई में अंग्रेजों को भागने पर मजबूर कर दिया. वहीं से अंग्रेजों के पलायन का क्रम शुरू हो गया.  कार्यक्रम के संयोजक रामयश मिश्र ने कहा कि महारानी लक्ष्मी बाई की जन्म स्थली को और विकसित करने की जरूरत हैं. कार्यक्रम के अंत में स्वामी नारायणनंद तीर्थ विद्यालय के छात्रों ने वेद मंत्रों के साथ दीपदान किया और वेद  का पाठ किया.

Download Udaipur Kiran App to read Latest Hindi News Today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*