Saturday , 27 November 2021
कांग्रेस पार्टी के विधायक ने सोनिया को चिट्ठी लिख कहा- भाई जगताप ने धक्का दिया और अभद्र भाषा का किया इस्तेमाल

कांग्रेस पार्टी के विधायक ने सोनिया को चिट्ठी लिख कहा- भाई जगताप ने धक्का दिया और अभद्र भाषा का किया इस्तेमाल

मुंबई:अब महाराष्ट्र कांग्रेस में कलह बढ़ता जा रहा है. कांग्रेस विधायक जीशान सिद्दीकी ने आरोप लगाया है कि मुंबई कांग्रेस चीफ भाई जगताप ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया है. कांग्रेस विधायक ने इस संबंध में मंगलवार को सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखकर अपनी शिकायत दर्ज करवाई है. सिद्दीकी ने आरोप लगाया है कि भाई जगताप ने रविवार को कांग्रेस पार्टी द्वारा आयोजित एक प्रदर्शन के दौरान उनके समुदाय के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया. हालांकि, बांद्रा से कांग्रेस विधायक ने यह भी कहा कि यह पार्टी में आतंरिक चर्चा के बाद यह मामला सुलज जाएगा.

सोनिया गांधी को लिखे खत में पार्टी विधायक ने कहा है, ‘मैं यह खत आपको लिखते वक्त पूरी तरह से सदमे में हूं और मुझे विश्वास नहीं हो रहा है. बीते दिनों केसी वेणुगापाल और एचके पाटिल ने मुंबई कांग्रेस द्वारा आयोजित एक मोर्चे में शामिल थे. हालांकि, मेरा नाम इस लिस्ट में नहीं था लेकिन एक चुने हुए जनप्रतिनिधि होने के नाते पुलिस ने मुझे वहां जाने दिया. जब भाई जगताप ने यह देखा तो वो वहां पहुंचे और कहा कि इसमें और कोई दूसरा नहीं शामिल हो सकता है.

एमएलए,वीएमएलए जो भी हो सब बाहर. इसके बाद मैंने कहा कि भाई आप हमारे अध्यक्ष हैं और बजाए इसके कि आप हमें सुरक्षा प्रदान करें आप हमारा अपमान कर रहे हैं…यह गलत है. इसके बाद उन्होंने कहा कि हां, जो करना है कर लो…तुझे अच्छा नहीं लग रहा है तो भाड़ में जाओ..मैं यह सुनकर हैरान रह गया. लेकिन पार्टी के अन्य नेताओं ने मुझसे यह कह दिया कि वो इसी तरह बात करते हैं.

कांग्रेस विधायक ने आगे लिखा है, ‘जब नेता बाहर आए तब मैंने भाई जगताप से कहा कि उन्हें सैकड़ों लोगों के सामने मुझसे इस तरह से बात नहीं करनी चाहिए थी. इसके बाद मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष ने आपा खो दिया और उन्होंने मुझे धक्का दिया और मेरे समुदाय को लेकर बेहद ही अभध्र भाषा का इस्तेमाल किया. जब कांग्रेस कार्यकर्ताओें ने यह देखा तब वो नाराज हो गए और उन्होंने भाई जगताप को धक्का दिया और फिर मुझे यह सब रोकने के लिए बीच में आना पड़ा.

पार्टी की छवि बची रहे इसलिए मैं नहीं चाहता था कि जनता के बीच ऐसा हो. अगर मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष मुझे धक्का दे सकते हैं..अभद्र भाषा का इस्तेमाल कर सकते हैं…तब एक सामान्य पार्टी कार्यकर्ता खुद को कैसे महफूज महसूस कर सकता है? मैंने पहले भी आपको लिखा था कि भाई जगताप लगातार मेरे साथ अन्याय कर रहे हैं. मुझे विश्वास है कि आप इस तरह के व्यवहार को लेकर उनपर कड़ा एक्शन लेंगी.

इधर इस मामले पर न्यूज एजेंसी ‘ANI’ से बातीच करते हुए मुंबई यूथ कांग्रेस के प्रमुख ने कहा, ‘यह हमारी पार्टी का आतंरिक मामला है. हम इस तरह के मामलों को चर्चा के बाद निपटा लेंगे. हम एक प्रजातांत्रिक पार्टी हैं और ऐसे मुद्दों को चर्चा के बाद सुलझा लेते हैं.’

भाई जगताप ने इस मामले पर कहा कि इस मामले को सुलझा लिया जाएगा और इससे आने वाले बीएमसी चुनाव पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा. उन्होंने कहा, ‘मैं मुंबई अध्यक्ष हूं, मुझे 227 सीटों को देखना है और उन्हें अपनी विधानसभा से जुड़ी सीटों को देखना है.’

इधर इस पूरे मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा, ‘हम एक पुरानी पार्टी हैं और हम प्रजातंत्र में विश्वास करते हैं. यह कोई बड़ी बात नहीं है, चर्चा के बाद इस मामले को निपटा लिया जाएगा.’