Thursday , 16 August 2018

एआईएसएफ के 82वें स्थापना दिवस पर विचार गोष्ठी का आयोजन।

दरभंगा, 12 अगस्त (हिं.सं). ऑल इंडिया स्टूडेन्ट्स फेडरेशन (एआईएसएफ) जिला परिषद् द्वारा संगठन के 82 वाँ स्थापना दिवस के अवसर पर ‘वर्तमान समय में छात्र संगठनों की आवश्यक्ता’ विषयक विचार गोष्ठी का आयोजन अजय भवन छात्रावास में संगठन के जिला अध्यक्ष शशिरंजन प्रताप सिंह की अध्यक्षता में हुई. जिसको संम्बोधित करते हुए संगठन के ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय उपाध्यक्ष चन्द्रभूषन झा ने कहा कि आज ही के दिन 12 और 13 अगस्त 1936 ई० को लखनऊ के गंगा मेमोरियल हॉल में देश के प्रथम छात्र संगठन एआईएसएफ की स्थापना कई स्वतंत्रता संग्राम के मनीषियों के द्वारा की गई थी. जिसके स्थापना का अध्यक्षीय भाषण पंडित जवाहरलाल नेहरू और संचालन मोहम्मद अली जिन्ना ने किया गया था. इस संगठन के स्थापना का उद्देश्य देश के अंदर चल रहे स्वतंत्रता आंदोलन में छात्र युवाओं की भूमिका को सुनिश्चित करना था. संगठन के स्थापना के बाद देश के अंदर छात्र-युवाओं को लामबंद करके संगठन ने देश की आजादी में अग्रिम भूमिका निभाई. वही देश की आजादी के बाद यह संगठन देश के अंदर शांति, प्रगति और वैज्ञानिक समाजवाद को लेकर आगे बढ़ा. उन्होंने कहा कि संगठन के नेताओं का साफ तौर पर मानना था कि अंग्रेजों से आजादी पूरी आजादी नहीं है. देश की आजादी के बाद समान शिक्षा, सबके लिए रोजगार और गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा के लिए आंदोलनरत रहे. गोष्ठी को संबोधित करते हुए संगठन के कोषाध्यक्ष अवनीश कुमार ने कहा कि वर्तमान दौर में जिस तरह राज्य और केंद्र सरकार द्वारा छात्रों के अधिकारो पर लगातार हमले हो रहे है. छात्रों को उचित शिक्षा मिले इसके लिए कोई उचित कार्रवाई नहीं की जा रही हैं. और लगातार देश के अंदर शिक्षा बजट कटौती और उच्च शिक्षा को खत्म करने की साजिश की रही है. ऐसी परिस्थिति में एआईएसएफ जैसे छात्र संगठनों की महत्वपूर्ण आवश्यकता है.

Report By Udaipur Kiran

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*